00 गाडी बुला रही है – अंगूठा दिखा रही है | Bazinga

हमेशा से सरकार चुनावों से पहले कई लुभावने वादे लेकर जनता के सामने आती है। चुनावी वादे एक सपने की तरह होते हैं इनमे जरा सी भी सच्चाई नहीं होती है। इस बार का लोकसभा चुनाव युवाओं के लिए कई वादे लेकर आया था। चुनाव से पहले रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रेलवे में 2 लाख से ज्यादा भर्तियां करने की घोषणा की थी। इसमें से एक भर्ती ग्रुप डी की है और दूसरी भर्ती एनटीपीसी यानी नॉन टेक्नीकल पॉप्युलर कैटेगरी की है।इन दोनों भर्तियों के लिए ढाई करोड़ से ज्यादा कैंडिडेट्स ने एप्लाई कर रखा है । रेलवे में इतनी बड़ी वैकेंसी सालों में एक बार ही आती है, ऐसे में 10वीं और 12वीं पास बेरोजगार युवाओं के लिए यह एक सुनहरा मौका था।


लेकिन 1 साल से ज्यादा टाइम होने पर भी रेलवे इन भर्ती एग्जाम की डेट तक जारी नहीं कर पाया है। 1 साल से एग्जाम की डेट का इंतजार कर रहे युवाओं की आवाज सरकार के कानों तक कैसे पहुंचेगी ? ये कैंडिडेट्स ऐसा क्या करें कि सरकार इस प्रोसेस को आगे बढ़ाए? सरकार से बस इतना निवेदन है कि बेरोजगार युवाओं को वादे नहीं रोजगार दें , नौकरी दें। वरना इन बेरोजगार युवाओं के साथ देश को 5 ट्रिलयन की इकोनॉमी बनाने का आपका सपना महज एक सपना ही रह जाएगा.

 879 total views,  2 views today

Leave a comment